Online Hindi Typing Kruti Dev & Mangal Speed Test Tool

  • Post comments:0 Comments
  • Post category:Exam Blog
  • Reading time:3 mins read

सरकारी नौकरी पाना कई भारतीयों का सपना होता है। यही कारण है कि सरकारी नौकरी पाने के लिए उम्मीदवारों को बहुत कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है। लेकिन कुछ सरकारी नौकरियां भी हैं जिनमें उम्मीदवारों को कौशल के आधार पर भर्ती किया जाता है। Typing विभिन्न सरकारी पदों में सबसे महत्वपूर्ण कौशल में से एक है। आप computer typing skill प्राप्त करके भीड़ से खुद को अलग कर सकते हैं।

Touch typing सीखने के अलावा, नियमित रूप से typing speed की जांच करना महत्वपूर्ण है। हमारे online typing speed test और practice tool में आपका स्वागत है। यहां आप अपनी Hindi KrutiDev typing व Hindi Mangal typing की speed और skill check कर सकते हैं।

हर साल SSC, UPSSSC और अन्य राज्य SSC जैसे परीक्षा आयोग विभिन्न सरकारी विभागों में रिक्त पदों को भरते हैं जहां Hindi typing की आवश्यकता होती है।

उम्मीदवारों की typing ability का परीक्षण करने के लिए, ये आयोग लिखित परीक्षा के साथ-साथ Hindi typing speed test भी लेते हैं।

इन typing examination में speed और accuracy सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं। और official typing exam से पहले किसी भी online typing test tool में अपनी Hindi typing speed और accuracy की जांच करना सबसे अच्छा है, ताकि आप परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकें।

इस पृष्ठ में, आप KrutidevMangal font में अपनी Hindi typing speed और accuracy की जांच कर सकते हैं। Hindi typing speed और accuracy जानने के लिए हमारा online Hindi typing test tool सबसे अच्छा उपकरण है।

आपको किसी भी सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं है और यह मुफ्त में ऑनलाइन उपलब्ध है। हमारे typing tool की Hindi typing speed test सुविधा से आप computer keyboard पर अपनी present typing speed की आसानी से जांच कर सकते हैं

Hindi Typing के प्रकार

Hindi Typing के कई प्रकार हैं, लेकिन अगर आप शुरुवात से typing सिखने जा रहे हैं, तो आपको दो प्रकार की ही Hindi typing पर ध्यान देना चाहिए। चाहे वह निजी कार्यालय हो या सरकारी दफ्तर, आमतौर पर Hindi typing दो प्रकार से ही की जाती है।

  1. Unicode / Mangal Typing
  2. Non-Unicode / KrutiDev Fonts Typing

Unicode Font क्या हैं?

Unicode कंप्यूटर डिस्प्ले में टेक्स्ट प्रदर्शित करने का एक मानक तरीका है, जो आज के डिजिटल और प्रिंटेड मीडिया में आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले प्रत्येक टेक्स्ट और प्रतीकों को परिभाषित करता है।

Unicode में विभिन्न भाषाओं के वर्ण और प्रतीक, करैक्टर कोडिंग द्वारा एक विशेष कोड के रूप में सिस्टम में एन्कोड किए जाते हैं। आज, इंटरनेट में हमारे द्वारा देखा जाने वाला प्रत्येक हिंदी टेक्स्ट यूनिकोड में ही लिखा गया है।

मंगल, उत्सव, कोकिला, एरियल, अपराजिता, यूनिकोड MS आदि कुछ सबसे लोकप्रिय unicode font हैं जो हिंदी टाइपिंग के लिए उपयोग किए जाते हैं, और इनमें से Mangal font सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला यूनिकोड फ़ॉन्ट है।

Unicode में हिंदी टाइपिंग के लिए 9 प्रकार के कीबोर्ड उपलब्ध हैं, लेकिन Inscript, Remington GAIL और Remington CBI keyboard सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले लेआउट हैं।

Unicode Mangal font विंडोज 7 में और बाद के उपडेटस में Inscript keyboard के साथ प्रीइन्सटाल्ड आता है। अगर हमें Mangal font का उपयोग करना है, तो हमे बस अपने सिस्टम में इसे इनेबल करना होगा।

Non-unicode font क्या हैं?

Non-unicode font या legacy font हमें English keyboard से Hindi text type करने की अनुमति देते हैं, लेकिन इन फॉण्ट की सबसे बड़ी समस्या यह है कि, इन फॉण्ट में type किया गया Hindi text वास्तव में एक English text है। यह हिंदी में केवल legacy font में ही दिखाई देता है। यदि कोई दूसरा फ़ॉन्ट अप्लाई किया जाता है, तो आपका टेक्स्ट Hindi के बजाय English के कुछ अक्षरों में दिखाई देगा।

KrutiDev और Devlys फ़ॉन्ट Hindi typing के लिए दो सबसे लोकप्रिय legacy font हैं। हालांकि KrutiDev और Devlys दोनों अलग-अलग font family से संबंधित हैं, लेकिन उनका typing interface पूरी तरह से Hindi Remington Keyboard पर आधारित है।

यदि कोई KrutiDev फ़ॉन्ट पर टाइप करने का अभ्यास करता है और उसे Devlys फ़ॉन्ट में टाइप करने के लिए कहा जाता है, तो वह आसानी से स्विच कर सकता है क्योंकि ऐसा करने से केवल फ़ॉन्ट का नाम बदल जाता है, कीबोर्ड लेआउट नहीं। कीबोर्ड लेआउट दोनों फोंट के लिए समान है। ये विंडोज में Mangal फ़ॉन्ट की तरह प्रीइंस्टॉलड नहीं होते हैं, हमें हिंदी टाइपिंग के लिए अलग से KrutiDev या Devlys फ़ॉन्ट (कम से कम एक) अपने सिस्टम में इनस्टॉल करना होता है।

KrutiDev और Devlys font family में लगभग 600 फॉण्ट विकसित किए गए हैं। लेकिन अधिकांश legacy font typing KrutiDev 010 फ़ॉन्ट पर की जाती है, इसलिए आमतौर पर लोग इसे KrutiDev Hindi typing के रूप में जानते हैं।

#नोट: KrutiDev में लिखा गया हिंदी पाठ केवल तब दिखाई देता है जब आपके सिस्टम में KrutiDev या Devlys फ़ॉन्ट में से कम से कम कोई एक स्थापित हो। यदि इसे मोबाइल या किसी अन्य कंप्यूटर में देखा जाता है जिसमें KrutiDev या Devlys जैसे फोंट नहीं हैं, तो यह Hindi text के बजाय English के रैंडम अल्फाबेट्स दिखाएगा और आप इसे पढ़ नहीं पाएंगे।

हिंदी फ़ॉन्ट्स का उपयोग करके कंप्यूटर में Hindi KrutiDev Typing कैसे करें?

जैसा कि हमने आपको ऊपर पोस्ट में बताया कि आपके कंप्यूटर पर KrutiDev फॉन्ट में Hindi typing करने के लिए, आपके सिस्टम में KrutiDev फॉन्ट इंस्टॉल होना चाहिए। लेकिन अगर आप पहली बार KrutiDev Hindi Typing करने जा रहे हैं तो आपको शुरुवात में KrutiDev फ़ॉन्ट को स्थापित करने में कुछ कठिनाई महसूस हो सकती है। तो यहां हमने, आप अपने सिस्टम में क्रुतिदेव फ़ॉन्ट को कैसे स्थापित करे इसके लिए दो तरीके बताये हैं।

विंडोज कंप्यूटर में Hindi KrutiDev Font कैसे इनस्टॉल करें?

चलिए अब देखते हैं कि आप अपने कंप्यूटर में KrutiDev font कैसे स्थापित करें ताकि आप Hindi typing शुरू कर सकें। आपको अपने PC में KrutiDev हिंदी फ़ॉन्ट को स्थापित करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

मेथड 1 – Direct Install

Step1: सबसे पहले आपको KrutiDev Hindi Fonts ऊपर दिए गए लिंक से डाउनलोड करना होगा।

Step2: डाउनलोड की गई Zip फ़ाइल को एक्सट्रेक्ट करें उसके लिए आप 7Zip सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते हैं।

Step3: अब उस साइज के फ़ॉन्ट पर राइट क्लिक करें जिसे आप इंस्टॉल करना चाहते हैं, जैसे अगर आप KrutiDev 010 अपने सिस्टम में इनस्टॉल करना चाहते हैं तो उस पर राइट क्लिक करें और फिर इंस्टाल बटन पर क्लिक करें। आपके कंप्यूटर में KrutiDev हिंदी फ़ॉन्ट्स इनस्टॉल हो गए हैं।

मेथड 2 – Through Control Panel

Step1: सबसे पहले आपको अपने कंप्यूटर में KrutivDev हिंदी फ़ॉन्ट्स डाउनलोड करना होगा।

Step2: उन्हें डाउनलोड करने के बाद, आपको यह फ़ाइल एक्सट्रेक्ट करनी होगी। जिप फाइल को एक्सट्रेक्ट करने के बाद आपको एक .tff फाइल कॉपी दिखाई देगी।

Step3: इस .Tff फ़ाइल को कॉपी कर लीजिये, हमें इसे अपने कंप्यूटर में पेस्ट करना होगा।

Step4: इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर के कंट्रोल पैनल पर जाना होगा। कंट्रोल पैनल पर आप को एक फ़ॉन्ट फ़ोल्डर दिखेगा। आपको उस पर क्लिक करना है।

Step5: फ़ॉन्ट्स फोल्डर पर क्लिक करने के बाद यह खुल जाएगा। अब आपको इसमें कई फॉण्ट दिखाई देंगे, ये आपके कंप्यूटर सिस्टम में पहले से इन्सटाल्ड हैं।

Step6: अब .tff फाइल जिसे हमने स्टेप 2 में कॉपी किया है, उसको इस फोल्डर में पेस्ट करना है। पेस्ट करने के लिए आप Ctrl + V शॉर्टकट का उपयोग कर सकते हैं। जैसे ही आप फाइल पेस्ट करते हैं, आपके कंप्यूटर में KrutiDev हिंदी फ़ॉन्ट्स इनस्टॉल हो गए हैं।

हिंदी फॉन्ट इंस्टॉल करने के बाद Hindi Typing कैसे शुरू करें?

अब अगर आपके कंप्यूटर पर KrutiDev हिंदी फॉण्ट सही ढंग से इनस्टॉल हो चुके हैं। तो अब आप KrutiDev Hindi typing शुरू कर सकते हैं। लेकिन कैसे, तो हम इसके बारे में भी आपको जानकारी देने जा रहे हैं। इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

Step1: सबसे पहले आपको अपने कंप्यूटर में कोई एडिटिंग सॉफ्टवेयर ओपन करना है, जिसमें आप Hindi typing करना चाहते हैं, उदाहरण – माइक्रोसॉफ्ट वर्ड।

Step2: अब इसमें टेक्स्ट लिखने से पहले आपको फॉन्ट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। क्लिक करने के बाद, आप के सामने कई फॉण्ट आ जाएंगे। उनमें से, आपको हिंदी फ़ॉन्ट का चयन करना होगा जिसमें आप कंप्यूटर पर टाइप करना चाहते हैं। और बस फिर Hindi Typing शुरू करें।

KrutiDev Hindi Typing Test का कीबोर्ड लेआउट कैसा होता है?

KrutiDev Hindi Typing के कीबोर्ड लेआउट को KrutiDev Remington या Hindi Typewriter Keyboard कहा जाता है। इस कीबोर्ड का लेआउट Hindi typing typewriter की तरह है। KrutiDev कीबोर्ड का सचित्र लेआउट नीचे दिया गया है

Krutidev Hindi keyboard layout

इस कीबोर्ड लेआउट के माध्यम से, लोग अक्सर क्रुतिदेव, डेविल्स फ़ॉन्ट में हिंदी टाइपिंग करते हैं। भारत सरकार या राज्य सरकार द्वारा ली जाने वाली कई सरकारी परीक्षाओं में, इस कीबोर्ड लेआउट पर ही Hindi Typing Test कराया जाता है।

आपको इस कीबोर्ड लेआउट के लिए किसी भी प्रकार के सॉफ़्टवेयर को इनस्टॉल करने की आवश्यकता नहीं है। जब भी आप अपने कंप्यूटर में क्रुतिदेव हिंदी फ़ॉन्ट इनस्टॉल करके (MS Word, Wordpad) जैसे सॉफ़्टवेयर खोलकर Hindi typing शुरू करते हैं, तो आपका कंप्यूटर कीबोर्ड हिंदी टाइपराइटर कीबोर्ड लेआउट के रूप में ही काम करता है।

Hindi Typing Test में मंगल फॉन्ट क्या है?

कंप्यूटर में Hindi typing के लिए KrutiDev के साथ आमतौर पर Mangal फॉन्ट का उपयोग किया जाता है। Mangal हिंदी फ़ॉन्ट एक Unicode फ़ॉन्ट है। यह हिंदी फ़ॉन्ट देवनागरी लिपि पर आधारित है।

वर्तमान में, कई सरकारी और निजी क्षेत्र की नौकरियों के लिए Hindi Typing Test मंगल फॉण्ट में आयोजित की जाती हैं। इस वजह से, अधिकांश छात्र मंगल फॉन्ट में Hindi typing सीखना चाहते हैं।

पहले, Hindi typing practice KrutiDev फॉण्ट में किया जाता था, लेकिन वर्तमान में Mangal फॉन्ट में Hindi typingका चलन बढ़ गया है। अगर आप हिंदी टाइपिंग सीखना चाहते हैं तो यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप हिंदी टाइपिंग KrutiDev फॉन्ट में सीखना चाहते हैं या Mangal फॉण्ट में। 

Mangal Hindi Typing Test का कीबोर्ड लेआउट कैसा होता है?

टाइपिंग के लिए प्रत्येक भाषा का अपना कीबोर्ड लेआउट होता है। विभिन्न प्रकार के लेआउट में, अंग्रेजी कीबोर्ड की विशेष कुंजी दबाकर हिंदी भाषा के विभिन्न अक्षरों को टाइप किया जाता है। कंप्यूटर पर मंगल फॉन्ट में Hindi typing के लिए तीन प्रकार के कीबोर्ड लेआउट विकसित किए गए हैं। जो निम्नलिखित है: –

  • Remington GAIL Keyboard Layout
  • Remington CBI Keyboard Layout
  • Inscript Hindi Keyboard Layout 

KrutiDev/ Devlys fonts पर टाइप करते समय हमें जो कीबोर्ड मिलता है वह Remington keyboard ही है। लेकिन इसका उपयोग non-unicode typing के लिए किया जाता है, जबकि हमें भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार unicode typing करनी होती है। इसलिए अब सभी विभागों में unicode typing को महत्व दिया जा रहा है।

इसलिए ऐसे यूजर्स के लिए जो पहले से ही Hindi typing जानते हैं, जो कि KrutiDev/ Devlys font पर टाइपिंग करते आ रहे हैं, वह Mangal font में Hindi typing कर सके उनके लिए यूनिकोड में Remington GAIL और Remington CBI कीबोर्ड विकसित किया गया है, जिसमें KrutiDev/ Devlys जैसे non-unicode फ़ॉन्ट को हटाकर Unicode Mangal font प्रयोग में लिया गया है।

मतलब दोनों Remington GAIL और Remington CBI यूनिकोड टाइपिंग कीबोर्ड हैं। । यूनिकोड Remington GAIL/ CBI with Mangal font का लेआउट लगभग Remington KrutiDev font के लेआउट के समान है। इनके बीच के अंतर को अच्छे अभ्यास के साथ आसानी से समझा जा सकता है।

कंप्यूटर में Remington GAIL/ CBI कीबोर्ड लेआउट को इनेबल करने के लिए, हमें हिंदी इंडिक इनपुट टूल नामक एक सॉफ्टवेयर डाउनलोड और इंस्टॉल करना होगा। इस सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करने के बाद, कंप्यूटर पर Remington GAIL/ CBI कीबोर्ड लेआउट पर Hindi typing शुरू किया जा सकता है।

1. Remington GAIL  एक Unicode कीबोर्ड है, जो KrutiDev Remington (Non-Unicode) कीबोर्ड से काफी मिलता जुलता है।

हां, यह अवश्य है कि Remington GAIL कीबोर्ड में KrutiDev कीबोर्ड से कुछ अलग कुंजी (बटन) हैं, हालांकि बाकी पूरे कीबोर्ड का लेआउट एक जैसा है।remington mangal keyboard layout

GAIL/ CBI layout – img source: typingsansar.com

तस्वीर से, आपको सही जानकारी मिल जाएगी कि Remington GAIL में किस बटन का स्थान बदल गया है। अगर आपने तस्वीर को ध्यान से देखा है, तो आपको पता चला होगा कि टॉप रो यानी नंबर रो में कुछ बदलाव किए गए हैं।

Remington GAIL और KrutiDev कीबोर्ड की कार्य प्रणाली भी समान हैं। यद्यपि Remington GAIL कीबोर्ड की कार्य प्रणाली व्याकरण पर आधारित है, यह व्याकरण के नियमों को शिथिल करता है। जैसे KrutiDev कीबोर्ड पर टाइपिंग करते समय ‘​ि’ की मात्रा वर्ण से पहले टाइप की जाती है। उसी तरह, Remington GAIL कीबोर्ड में टाइपिंग करते समय, ‘​ि’ की मात्रा वर्ण से पहले लगाई जाती है।

यह व्याकरण नियम के विरुद्ध है, लेकिन ऐसा इसलिए किया गया ताकि जो यूजर्स पहली बार नॉन-यूनिकोड टाइपिंग से यूनिकोड कीबोर्ड पर स्विच कर रहे हों, उन्हें किसी असुविधा का सामना न करना पड़े।

2. जबकि Remington CBI  पूरी तरह से व्याकरण आधारित है, इसलिए इसमें ‘​ि’ की मात्रा वर्ण के बाद टाइप करनी होती है। इसलिए Remington CBI  लेआउट KrutiDev यूजर्स के लिए एक समस्या भी खड़ी करता है। । यही कारण है कि KrutiDev पर टाइप करने वाले उपयोगकर्ताओं द्वारा Remington GAIL लेआउट का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है।

#नोट:  Remington GAIL और Remington CBI कीबोर्ड्स का लेआउट सामान है अंतर केवल इतना है  की GAIL में मात्रा वर्णो के पहले आती है जैसा KrutiDev में, वहीं Remington CBI में मात्रा वर्णो के बाद लगाई जाती है।

3. Inscript (INdic SCRIPT) कीबोर्ड लेआउट हिंदी और अन्य भारतीय लिपियों को इनपुट करने के लिए भारत सरकार द्वारा विकसित किया गया है। यह Mangal फ़ॉन्ट के साथ Hindi unicode typing के लिए मानक कीबोर्ड है। इसी कारण अधिकांश SSC exam में इसी कीबोर्ड लेआउट के द्वारा ही Hindi Typing Speed Test Exam लिया जाता है, कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार inscript कीबोर्ड का सचित्र लेआउट नीचे दिया गया है।inscript keyboard layout

img source: typingsansar.com

यह कीबोर्ड लेआउट बिलकुल नया है और किसी भी पुराने कीबोर्ड लेआउट से नहीं मिलता है। इसका मतलब है की यदि किसी ने Remington GAIL लेआउट पर Mangal फॉण्ट में Hindi speed typing सीखी है तो उसे भी Inscript कीबोर्ड से Hindi typing करने के लिए इसके लेआउट पर फिर से typing सीखनी होगी।

Inscript कीबोर्ड भी व्याकरण आधारित है।  अगर आप unicode Hindi typing सिखने जा रहे तो यह आपके लिए Remington GAIL से अच्छा विकल्प होगा। क्योंकि Inscript कीबोर्ड की वर्ण व्यवस्था इस प्रकार की है कि इसे अल्प समय में ही सीखा जा सकता है। इसमें कीबोर्ड के एक तरफ सारे स्वर दिए गए हैं जबकि दूसरी तरफ समस्त व्यंजन। इनकी व्यवस्था भी इस प्रकार से की गई है कि एक बटन पर ही शिफ्ट के साथ दूसरा वर्ण रखा गया है जैसे— क के साथ ख, प के साथ फ, ब के साथ भ। इसी प्रकार से स्वरों की व्यवस्था की गई है।

आपको इस कीबोर्ड का उपयोग करने के लिए किसी अन्य सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता नहीं है यह प्रत्येक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में प्रीइंस्टॉलेंड होता है लेकिन इसका उपयोग करने के लिए हमें इसे एक बार अपने सिस्टम में इनेबल करना होगा।

अब देखते हैं कि Mangal कीबोर्ड व्याकरणिक रूप से KrutiDev कीबोर्ड से अलग कैसे है?

KrutiDev कीबोर्ड से अगर हमें ऐसे वर्णों को लिखना है जो की कीबोर्ड में नहीं दिया गया तो उसके लिए शार्ट कट कुंजी हैं। जैसे अगर हमे लिखना हुआ तो उसके लिए शार्ट कट कुंजी है Alt + 0180, इसी प्रकार हमे क्र लिखना हुआ तो उसके लिए शार्ट कट कुंजी है Alt + 0216, अगर आधा च (च्) लिखना हुआ तो उसके लिए शार्ट कट कुंजी है Alt + 080  । इस प्रकार हमे कृतिदेव कीबोर्ड से एक शब्द लिखने के लिए उसके हर एक वर्ण (जो कीबोर्ड में नहीं है ) को Alt Codes की मदद से लिखना पड़ता है , उसके लिए हमे कई कुंजीयों को प्रेस करना पड़ता है इससे हमारी स्पीड घटती है।

परन्तु Mangal फॉण्ट को सपोर्ट करने वाले कीबोर्ड जैसे (Remington GAIL/ CBI और Inscript कीबोर्ड ) जो व्याकरण आधारित है उनमे हलंत के प्रयोग से, मिश्रित करके हम नये वर्ण बना सकते हैं। जैसे अगर हमे क्र लिखना हुआ तो उसके लिए शॉर्टकट कीज की जरूरत नहीं है अपितु के बाद दबाने से ही क्र बन जाता है। वहीं अगर हमे  आधा च (च्) लिखना हुआ तो हमे सिर्फ के बाद हलंत लगाना होगा और व्याकरण के नियम के अनुसार हमारा च् लिख जाएगा। 

#नोट:  Mangal फॉण्ट में भी कुछ ऐसे वर्ण होते हैं जिनको शॉर्टकट से ही बनाया जा सकता है, परंतु  यह KrutiDev लेआउट की शॉर्टकट कीज से यह पूर्णत: भिन्न होती हैं, और इनकी संख्या भी कम होती हैं।

Leave a Reply